Shiv Ji images 2022, Lord Shiva Images, Shiva Images!!

2
732
shiv ji images 2022

Shiv Ji images 2022, Lord Shiva Images, Shiva Images

श्रष्टि के संघारक शिव जी के बारे में आज हम बात करने वाले हैं, आपको बताने वाले हैं Shiv Ji images 2022, Lord Shiva Images, Shiva Images!! शिव शंकर की वेशभूषा को देख कर ही डर जैसा प्रतीत होने लगता है शिव जी की अनेक ऐसी बाते हैं जो रहस्यमयी हैं। सर्वप्रथम जब धरती पर जीवन नहीं था, तब सिर्फ शिव जी थे इसी कारण इनको आदिदेव भी कहा जाता है। त्रिशूल धारी शिव शंकर जिनके गले में सर्पों की माला शोभायमान होती रहती है। इनकी पहली पत्नी सती और बाद में पारवती जी हुई। जिनके पुत्र गणेश जी हुए जिनकी वंदना संसार में सर्वप्रथम की जाती है। आपने सप्तऋषि का नाम सुना ही होगा वे शिव जी के ही शिष्य थे।

आज हम आपको एक ऐसी बात बताने वाले हैं जो पहले आपको किसी ने नहीं बताई होगी, उनकी वेशभूषा में हर एक धर्म के लोगों का समावेश है। भगवान् शिव सभी प्रकार की जातियों के द्वारा पूज्य हैं। चाहे वह देवता हों या दानव, राक्षस हो या पिशाच। न्याय के लिए शिव जी ने अनेको असुरों का वध किया और धर्म की रक्षा की। शिव जी के पुत्र गणेश जी का वाहन मूषक है और कार्तिकेय जी का वाहन मोर है। शिव जी कैलाश पर्वत पर निवास करते हैं और अपने प्रभु की तपस्या में लींन रहते हैं।

यह भी पढ़े – हनुमान जी की रहस्यमयी बाते 

इसको ज़रूर देखना – फूलों जैसा मुलायम हो जाएगा चेहरा 

shiv ji images 2022

shiv ji images 2022

shiv ji images 2022

shiv ji images 2022

आपको अति हर्ष होता है बताते हुए की शिव जी को अर्धनारीश्वर भी कहा जाता है, आपको शिव जी की कुछ रोचक बाते बताने वाले हैं, जो शिव जी की प्रिय पत्नी हैं उनकी अर्धांगिनी हैं माता पारवती – उनको विकार रहित माना गया है। महाकाल से जुडी बहोत सी बाते जो एकदम निराली हैं इनको भोले भंडारी भी कहा जाता है, अगर कोई दिल से इनको जपता है तो ये अपने भक्त पर जल्दी ही प्रसन्न हो जाते हैं। शरीर पर भस्म रमाने वाले शिव शंकर का उज्जैन महाकाल में एक ऐसा मंदिर है जिसमे शराब का भोग लगाया जाता है।

shiv ji images 2022

shiv ji images 2022

shiv ji images 2022

शिव जी की तीसरी आँख जो की क्रोध स्वरुप है उसको कौन नहीं जानता। शिव शंकर की जो दोनों आँखे हैं वे पूरे जगत की रौशनी मानी जाती हैं अगर उन आँखों को वे धक् लेंगे तो पूरे संसार में अन्धकार छा जाएगा। मोह माया से रहित और आकर्षण से रहित शिव जी की पूरे विश्व में 12 ज्योतिर्लिंग हैं। शिव जी का तीसरा नेत्र अगर खुल जाता है तो पूरा संसार भस्मीभूत हो जाएगा। महिलाओं को शिव जी को छूने का अधिकार नहीं दिया गया है।

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here