Bewafa Dost Shayari,New Dhokha Shayari,Dhokha Status

2
533
bewafa dost shayari

Bewafa Dost Shayari, New Dhokha Shayari, Dhokha Status, Dhokha

अगर आप Bewafa Dost Shayari,New Dhokha Shayari,Dhokha Status शायरी कुछ इस तरह की शायरी सर्च कर रहे हो तो आप बिलकुल सही जगह पर आ गए हो, यहाँ आपको मिलेगा ऐसा कलेक्शन जो पहले आपने किसी भी ब्लॉग में नहीं पढ़ा होगा, एकदम दिल को छु लेने वाली शायरी, आप अपने पार्टनर को आगरा सुनाएंगे तो वह आपका दीवाने हो जायेंगे।

bewafa dost shayari

deewaane kuch is kadar ho gaye hain aapke 

dhokha milne ke baad bhi sirf tumko hi chaahenge hm 

दीवाने कुछ इस कदर हो गए हैं आपके 

धोखा मिलने के बाद भी सिर्फ तुमको ही चाहेंगे हम 

dhokha dekr kuch aise chale gaye tum 

jaise kabhi jaante hi nahi the 

ab nafrat kuch is trha jataate ho 

jaise kabhi maante hi nahi the 

धोखा देकर कुछ ऐसे चले गए तुम 

जैसे कभी जानते ही नहीं थे 

अब नफरत कुछ इस तरह जताते हो 

जैसे कभी मानते ही नहीं थे 

pata nhi hosh me hoon 

ya madhosh hoon main 

bas pata nahi kyaa soch kar 

ab sirf khamosh hoon main 

पता नहीं होश में हूँ 

या मदहोश हूँ मैं 

बस पता नही क्या सोच कर 

अब सिर्फ खामोश हूँ मैं 

यह भी पढ़े – Shayari on Beauty, Tareef In English, Moon In Hindi, Raat

ज़रूर देखे – पहले ही दिन से मोटापा होगा कम 

lagne lagne mein kitna fark hai dekho naa 

tumko kitne bure lage hm or hmko khuda lage tum 

लगने लगने में कितना फर्क है देखो ना 

तुमको कितने बुरे लगे हम और हमको खुदा लगे तुम 

pyaar me kisi ko kabhi dhokha nhi dena 

doston ko aansuon ka tohfaa nhi dena 

koi ro pade aapko yaad karke 

aisa kisi ko kabhi mauka nahi dena

प्यार में किसी को कभी धोखा नहीं देना 

दोस्तों को आंसुओं का तोहफा नही देना 

कोई रो पड़े आपको याद करके 

ऐसा किसी को कभी मौका नही देना 

bewafa dost shayari

galti teri nahi ki toone mujhko dhokha diya 

galti meri hi thi ki maine tujhko mauka diya 

गलती तेरी नही की तूने मुझको धोखा दिया 

गलती मेरी ही थी की मैंने तुझको मौका दिया 

rishton ko waqt or halaat badal dete hain 

ab tera zikra hote hi hm baat badal dete hain 

रिश्तों को वक़्त और हालात बदल देते हैं 

अब तेरा ज़िक्र होते ही हम बात बदल देते हैं 

hm afsos kyon kare ki koi nhi mila hmko 

afsos to unko hoga jinko hm nahi mile

हम अफ़सोस क्यों करे की कोई नही मिला हमको 

अफ़सोस तो उनको होगा जिनको हम नहीं मिले 

dhokha to kisi ek se hi milta hai 

kisi aise se jispr hmko sbse jyaada bharosa ho 

lekin vishwaas fir kisi pr bhi nhi hota zindagi me 

धोखा तो किसी एक से ही मिलता है 

किसी ऐसे से जिसपर हमको सबसे ज्यादा भरोसा हो 

लेकिन विश्वास फिर किसी पर नही होता ज़िन्दगी में 

jo sahi ke saath galat karte hain 

vo doosro ke liye nahi 

apne liye hi galat karte hain 

जो सही के साथ गलत करते हैं 

वो दूसरो के लिए नहीं 

अपने लिए ही गलत करते हैं 

bewafa dost shayari

kyu bahaane bnaate ho tum 

mujhse door jaane ke 

saaf saaf kah dete ki dil me 

jagah nahi hai hmare liye 

क्यों बहाने बनाते हो तुम 

मुझसे दूर जाने का 

साफ़ साफ़ कह ही देते की दिल में 

जगह नहीं है हमारे लिए

mujhko khamosh dekhkar hairaan na hona dosto 

kuch hua nahi hai bs vishwaas karke dhokha khaya hai 

मुझको खामोश देख कर  हैरान न होना दोस्तों 

कुछ हुआ नही बस विश्वास करके धोखा खाया है 

dhokha to kismat ne hm dono ke hi saath kiya 

hmne tumko auro se alag samjha

or tumne hmko sbke jaisa 

धोखा तो किस्मत ने हम दोनों के ही साथ किया 

हमने तुमको औरो से अलग समझा 

ओर् तुमने हमको सबके  जैसा 

kisi ko dhokha dekar ye mt sochna

ki vo kitna befkoof hai 

sirf ye sochna ki usko kitna 

bharosa tha tum par 

किसी को धोखा देकर ये मत सोचना 

की वो कितना बेफकूफ है 

सिर्फ ये सोचना की उसको 

कितना भरोसा था तुम पर 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here